Breaking News
ताजा खबर

छपरा अधिवक्ता हत्या कांड के दोषीयों को फाँसी दो: संध

सवांददाता : नीतीश भारद्वाज
छपरा : अधिवक्ता हत्या कांड को लेकर जगदीशपुर अधिवक्ता संध के अधिवक्ताओं ने आज काला बिला लगाकर विरोध प्रदर्शन किया जिसका नेतृत्व संध के अध्यक्ष जयकांत दुबे ने किया। इस अवसर पर जयकांत दुबे ने हत्या कांड की उच्च स्तरीय न्यायिक जाँच की मांग करते हुए मृतक परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने और 25 – 25 लाख मुआवजा देने की मांग की गई तथा स्पीडी ट्रायल चलाकर हत्यारा को फाँसी की सजा देने की माग की गई बतादे कि 12 जून 2024 को सुबह लगभग 8 बजे छपरा कोर्ट जाने के क्रम में पूर्व से घात लगाए बैठे अपराधियों ने वरीय अधिवक्ता राम अवधेश प्रसाद यादव वो पुत्र सुनील यादव की हत्या कर दी गई थी।


वही वृंदानद सिंह ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर सरकार अधिवक्ता साथियों के सुरक्षा जैसे संवेदनशील मामला को गंभीरता से नहीं लेती है तो अधिवक्ता सुबे बिहार के न्यायिक कार्यो के साथ साथ सरकार की भी चक्का जाम करने का काम करेंगें।
सामाजिक कार्यकर्ता सह अधिवक्ता विनोद वर्मा ने बताया कि आए दिन देश और प्रदेश में अपराधियों द्वारा अधिवक्ताओं को निशाना बनाया जा रहा है और सरकार आँख बंद कर तमाशा देख रही है
विगत कई दशकों से अधिवक्ता प्रोटेक्सन ऐक्ट पेंडिग में पड़ा हुआ है फलस्वरूप प्रति वर्ष सैकड़ों अधिवक्ताओं जान चली जाती है वही राज्य वो केंद्रीय सरकार अपनी जबाब देही से भागती रही है। अधिवक्ता कोर्ट आॅफ मजिस्ट्रेट तो होता है परंतु लोगों का अधिवक्ताओं के प्रति गलत सोच का शिकार एक अधिवक्ता होता है अधिवक्ता भारतीय न्याय की धुरी होने के उपरांत भी देश में आज तक अधिवक्ताओं के सुरक्षा संबंधी कानून का न बनना बड़ा ही दुर्भाग्य पूर्ण है जबकि आजादी के समय से ही मांग उठती रही है श्री वर्मा ने कहा कि आज तक ना केंद्र सरकार और ना ही बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने ही अधिवक्ताओं की सुरक्षा को लेकर कोई ठोस कदम उठाया हमारे साथी अधिवक्ता गण समय समय पर आंदोलन करते रहे है श्री वर्मा ने कहा कि सरकार अधिवक्ताओं के साथ सौतेलापन व्यवहार कर रही जिससे अधिवक्ता आहत है। इस अवसर पर अश्वनी सिंह सचिव, वरीय अधिवक्ता नंदेशवर तिवारी, पूर्व अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह, पूर्व सचिव वृंदानद सिंह, पूर्व सचिव अनिल चौबे, पूर्व सचिव योगेंद्र सिंह, धरमेश सिंह, गिरीश तिवारी, चंद्र भूषण सहाय, विंध्याचल पाठक, रणविजय सिंह, अंजू कुमारी, विजय राम, श्रवण सिंह, लाल बाबू यादव, राकेश पांडे, सुरेंद्र तिवारी, सुरेंद्र यादव, अजय तिवारी, जाहीद हुसैन, कुमार शोरभ, पंकज द्विवेदी, अभय सिंह, अनिल सिंह, मंटू केशरी हर्ष वर्धन सिंह मनोज चौधरी, संजय सिंह, राज शलभ प्रसाद, सहित अन्य लोग ने विरोध प्रदर्शन में शामिल रहे।

About the author

aakharprahari

Leave a Comment

error: Content is protected !!